Bamboo Subsidy Yojana : सब्सिडी पर बांस के उन्नत पौधे, किसान ऐसे करे ऑनलाइन आवेदन

Bamboo Subsidy Yojana: किसान नागरिक कृषि पर ही आधारित रहते है ऐसे में सरकार किसानों को कई सारी सुविधाएं प्रदान कर रही है उनके हित के लिए कई योजनाओं को जारी कर रही है जिससे किसानों को आर्थिक सहायता मिल सके। समय के साथ बदलते मौसम के साथ ही किसानों की जिंदगी में भी बहुत बुरा असर देखने को मिल रहा है क्यूंकि बेमौसम प्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों की फैसले ख़राब हो जाती है। आपको यह जानकर ख़ुशी होगी कि जो किसान खेती करेंगे उन्हें सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जो भी किसान नागरिक बैम्बू सब्सिडी योजना का आवेदन करना चाहते है उन्हें हम आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देने जा रहे है।

किसानों को मिलेगी इतने रुपये की सब्सिडी

बांस की खेती करने पर किसानों को 50 हजार की सब्सिडी प्रदान की जायेगी। यह सब्सिडी लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। आपको बता दें भारत में बांस की खेती को बरकारार रखने के लिए नेशनल बैम्बू मिशन (राष्ट्रीय बांस मिशन) को चलाया जा रहा है। जिसके माध्यम से बांस की खेती करने के लिए किसान प्रेरित हो सके।

जानिए क्या है राष्ट्रीय बांस मिशन

देश में अभी 125 स्वदेशी और 11 विदेशी प्रजातियों को मिलाकर कुल 136 बांस की प्रजातियां उपलब्ध है। इस योजना के माध्यम से किसानों को बांस की खेती के लिए 50 हजार रुपये दिए जायेंगे। इसके साथ ही छोटे व सीमान्त किसान नागरिकों को हर एक बांस के पौधे पर 120 रुपये की सब्सिडी भी अलग से दी जाएगी। यह सब इसलिए किया जा रहा है क्यूंकि कुछ समय से बांस की खेती में कमी देखने को मिली है उसी कमी को पूरा करने के लिए यह मिशन चलाया जा रहा है। आज के समय बांस के सामान का इम्पोर्ट बहार देश जैसे: बैंकॉक, थाईलैंड व चीन से होता है लेकिन सरकार द्वारा यह प्लान बनाया जा रहा है कि यह सभी सामान देश में ही तैयार हो सके। इससे देश का विकास हो पाएगा और किसानों की आय में भी बढ़ोतरी हो सकेगी।

बांस की खेती में भारत है दूसरा देश

क्या आप जानते है कि भारत देश बांस की खेती में दूसरे स्थान पर है। पहला स्थान चीन है। देश में हर साल 13.96 मिलियन टन बांस की खेती होती है। बांस का उत्पादन करने के लिए ज्यादा जमीन की आवश्यकता भी नहीं होती है इसके पौधे आसानी से छोटी जगह में भी लगाया जा सकता है।

जानिए बांस लगाने के लाभ

  • बांस लगाने के लिए कम जगह काफी होती है इसकी इतनी देखभाल करने की आवश्यकता भी नहीं होती।
  • किसान हर 4 साल में इसकी कटाई कर सकते है इसके बाद भी यह बढ़ता ही जाता है।
  • एक बांस के पेड़ की उम्र 40 से 50 साल होती है। यह आपको 3 से 4 लाख तक का मुनाफा दे सकता है।
  • आज के समय में बांस के पेड़ से कई सामान बनाये जाते है जिसकी मांग काफी ज्यादा है इससे आमदनी में भी बढ़ोतरी की जा सकती है।

ऐसे करें किसान Bamboo subsidy yojana का आवेदन

जो भी किसान इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है वह बांस के पौधे प्राप्त करने के लिए किसान वनमंडल अधिकारी (फार्मर फारेस्ट ऑफिसर) के पास जाकर सम्पर्क कर सकते है। इसके बाद उन्हें बांस के पौधे दिए जायेंगे जिसे वह अपने खेतो पर लगा सकते है और इससे मिलने वाले लाभ प्राप्त कर सकते है।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट को www.nvsrobhopal.com बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment